Saturday, September 10, 2011

कुछ गाने मन को छू लेते हैं

कहे आप को कैसा लगा 
मै जितनी  बार  सुनती हूँ लगता है कम 
इतना अच्छा लगा 

23 comments:

  1. बहुत सुन्दर आरती | धन्यवाद|

    ReplyDelete
  2. वाह! क्या बात है...मुद्दत बाद आज आपकी तश्वीर देखकर बहुत अच्छा लगा

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर और भक्तिपूर्ण...

    ReplyDelete
  4. आपको बहुत बहुत बधाई --
    इस जबरदस्त प्रस्तुति पर ||

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर ......आनंद आ गया

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर और भक्तिपूर्ण...

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर आरती

    ReplyDelete
  8. खूबसूरत रचना , बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  9. बहुत ही भावपूर्ण आरती

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर मधुर आरती...

    ReplyDelete
  11. खूबसूरत और भावमयी प्रस्तुति....

    ReplyDelete
  12. कर्ण प्रिय मधुर ,रुचिकर धन्यवाद /

    ReplyDelete
  13. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    ReplyDelete
  14. बहुत सुंदर भक्तिमय वंदना।
    सुनने से मन को शांति मिलती है।

    ReplyDelete
  15. बहुत सुन्दर आरती

    ReplyDelete
  16. गणेश विसर्जन के भक्तिमय वातावरण में इतनी सुंदर शब्द-रचना सुना कर भाव-विभोर कर दिया.

    ReplyDelete
  17. मनभावन प्रस्तुति ......!

    ReplyDelete




  18. आदरणीया विद्या जी
    सादर सस्नेहाभिवादन !

    अच्युतम् केशवम् सुन कर मन प्रसन्न हो गया … आभार !

    यह भक्ति रचना मेरे पास एम.एस.सुब्बूलक्ष्मीजी के मधुर स्वर में गाई हुई भी उपलब्ध है …

    विविध रंग और रस यूं ही बांटती रहें … !

    आपको सपरिवार
    बीते हुए हर पर्व-त्यौंहार सहित
    आने वाले सभी उत्सवों-मंगलदिवसों के लिए
    ♥ हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !♥
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete

मैं अपने ब्लॉग पर आपका स्वागत करती हूँ! कृपया मेरी पोस्ट के बारे में अपने सुझावों से अवगत कराने की कृपा करें। आपकी आभारी रहूँगी।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में