Friday, September 2, 2011

अफीम के पौधे ..




 माने अफीम के पौधे ..
जो केसरी या लाल फूलों से सजे लहराते , खूबसूरत नज़ारा पेश कर रहे हैं...
या फिर कई रंग में खिलनेवाले बोगन्वेलिया ...जिनमें खुशबु न होने पर भी ये नयनाभिराम सौन्दर्य के धनी हैं जो बाग़ को दिलकश रंग से निखारते हैं.

11 comments:

  1. अफीम के पौधे...खूबसूरत फूल...लेकिन गलत हाथों में प़ड़ने पर घातक...और बोगन्वेलिया तो वाकई कई रंग में खिलनेवाले ...जिनमें खुशबु न होने पर भी ये नयनाभिराम सौन्दर्य के धनी होते हैं.
    अच्छी प्रस्तुति के लिये हार्दिक धन्यवाद एवं आभार।

    ReplyDelete
  2. बहुत ही खूबसूरत्।

    ReplyDelete
  3. विद्या जी!
    आपने अफीम और बोगेन्वेलिया के फूलों के
    बहुत सुन्दर चित्र प्रस्तुत किये हैं।
    अफीम के चित्र तो मैंने पहलीबार ही देखें हैं।
    इन्हें दिखाने के लिए आपका शुक्रिया

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति ||
    आपको बहुत-बहुत --
    बधाई ||

    ReplyDelete
  5. अफीम की खेती मैने अपने बचपन में बहुत देखि हें ..इनके सुंदर खेत दिल को बहुत लुभाते हें ..इनपर लगे डोड़ो पर चीरा लगाते हैं --फिर वहां अफीम आती हे जो ईनका रस होता हें बाद में वह पकती हैं --इसको उगाने के लिए सरकार पट्टे देती हें --हर आदमी इसे नहीं उगा सकता ...चोरी से उगाना कानूनन जुर्म हैं !

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छी प्रस्तुति के लिये हार्दिक धन्यवाद|

    ReplyDelete
  7. sunder hum to vaise bhi prakarti ke premi hai .........

    ReplyDelete
  8. बहुत बढ़िया लिखा है आपने! शानदार प्रस्तुती!
    आपको एवं आपके परिवार को गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें!
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    ReplyDelete
  9. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    ReplyDelete

मैं अपने ब्लॉग पर आपका स्वागत करती हूँ! कृपया मेरी पोस्ट के बारे में अपने सुझावों से अवगत कराने की कृपा करें। आपकी आभारी रहूँगी।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में