Thursday, August 25, 2011

दोस्ती पर

दिल  में  कुछ  नहीं  दर्द  के  सिवा ,
आँखों  में  कुछ  नहीं  आंसू  के  सिवा ,
दोस्त  तू  मत  साथ  छोड़ना,
ज़िन्दगी  में  कुछ  नहीं  तेरी  दोस्ती  के  सिवा .


दोस्ती  करो  तो  धोका  मत  देना ,
दुसरो  को  आंसू  का  तोहफा  मत  देना ,
दिल  से  रोये  कोई  ज़िन्दगी  भर ,
ऐसा  किसी  को  मोका  मत  देना ..


बिना  दर्द  के  आंसू  बहाए  नहीं  जाते ,
बिना  प्यार  के  रिश्ते  निभाए  नहीं  जाते ,
इ  दोस्त  याद  रखना  बिना  दिल  दिए  दिल  पाए  भी  नहीं  जाते .


8 comments:

  1. दिल से निकले हुए सुन्दर भावों से रची हुई बेहतरीन रचना के लिए बधाई!

    ReplyDelete
  2. वाह दोस्ती को खूबसूरती से परिभाषित कर दिया।

    ReplyDelete
  3. बेहतरीन रचना के लिए बधाई.......

    ReplyDelete
  4. दोस्ती की खुबसूरत रचना....

    ReplyDelete
  5. dosto ko khoobsoorti se darshaya hai..........

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छा पर कभी किसी और कि शायरी अपने ब्लाग पर नही लिखनी चाहिए अपने दिल से लिखो SEND ME SMS IF I SAY WRONG/RIGHT- 07830448453 my blog http://ankitramnagar1.blogspot.com

    ReplyDelete

मैं अपने ब्लॉग पर आपका स्वागत करती हूँ! कृपया मेरी पोस्ट के बारे में अपने सुझावों से अवगत कराने की कृपा करें। आपकी आभारी रहूँगी।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में